Thursday, December 9, 2021

सयुंक्त राष्ट्र में बोले क़तर अमीर: खाड़ी संकट का हल सिर्फ बिना शर्त बातचीत

- Advertisement -

कतर के खिलाफ चल रहे नाकेबंदी को “एक संप्रभु राज्य के खिलाफ आतंकवादी हमला करार देते हुए शेख तामिम बिन हमद अल थानी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में खाड़ी संकट का हल बिना शर्त बातचीत को बताया है.

उन्होंने कहा कि “पड़ोसी देशों” के बहिष्कार ने कतर की आबादी पर “खाद्य पदार्थों, दवाओं और परिवार के संबंधों को खत्म करने के माध्यम से दबाव डाला है.” उन्होंने कहा कि का लक्ष्य अपनी राजनीतिक संबद्धता को बदलने और एक संप्रभु देश को अस्थिर करने के लिए खुद को मजबूर करना है. क्या यह आतंकवाद की परिभाषाओं में से नहीं है? “

भाषण के दौरान कम से कम दो बार, अमीर ने संकट को हल करने के लिए खाड़ी देशों और ईरान के बीच एक रचनात्मक वार्ता का आह्वान किया. उन्होंने कहा, जो स्थिति रखी गई, वह “अच्छे पड़ोसदारी का सिद्धांत, राज्यों की संप्रभुता के सम्मान और उनके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने की है”

इसी के साथ आरोपों का जवाब देते हुए कि कतर ने आतंकवादियों और उग्रवाद से निपटने की देश की इच्छा को दोहराया इसे “सर्वोच्च प्राथमिकता” करार दिया.

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय “सावधान रहना चाहिए कि लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है. नागरिकों से बदला लेने के लिए नहीं.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles