मिस्र और कतर के रिश्तें दिन-प्रतिदिन बिगड़ते ही जा रहे हैं. हाल ही में जोर्डन में हुए 28 वें अरब लीग शिखर सम्मेलन में मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फ़त्ताह सीसी ने शिखर सम्मेलन को उस वक्त छोड़ दिया जब कत्तर के अमीर तमीम बिन हम्माद ने सम्मेलन को संबोधित करना शुरू किया. इसके साथ ही मिस्र के मीडिया ने कत्तर के अमीर के संबोधन को भी कवर नहीं किया.

वहीँ दूसरी तरफ लेबनान के एक समाचारपत्र ‘अद्दियार’ ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया कि अब्दुल फ़त्ताह सीसी की हत्या के लिए क़तर के गुप्तचर विभाग ने बीस करोड़ डाॅलर का बजट निर्धारित किया हुआ हैं. हालांकि अमेरिका के दबाव की वजह से इस योजना पर अम्ल नहीं किया गया.

अमेरिका के दबाव के बावजूद क़तर के गुप्तचर विभाग ने ख़वानुल मुसलेमीन (मुस्लिम ब्रदरहुड) के सदस्यों के एक गुट को मिस्र के राष्ट्रपति की गाड़ी में बम लगाने की ज़िम्मेदारी भी दी. जिसके बारे में  मिस्र के राष्ट्रपति को पता चल गया. उन्होंने धमकी दी है कि वे हर क़ीमत पर क़तर की राजधानी दोहा पर बमबारी करवा देंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

याद रहे मिस्र में मुरसी सरकार के विरुद्ध विद्रोह को क़तर का समर्थन प्राप्त था, जिसके बाद से ही मिस्र व क़तर के बीच गहरा तनाव व्याप्त है.

Loading...