qatar emir

qatar emir

क़तर अमीर शेख़ तमीम बिन हमद आले सानी ने एक बार फिर से खाड़ी संकट को खत्म करने के लिए बातचीत की पेशकश की है.

सोमवार को अमेरिकी टीवी चैनल सीबीएस से बात करते हुए कहा, क़तर अपने पड़ोसी अरब देशों के साथ जारी संकट को समाप्त करना चाहता है, लेकिन देश की संप्रभुता एवं गौरव से बढ़कर कोई चीज़ नहीं है. उन्होंने सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात, मिस्र और बहरैन को सीधे तौर पर बातचीत के लिए आमंत्रित किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ दूसरी और  बहरीन के विदेश मंत्री शेख खालिद बिन अहमद अल-खलीफा ने क़तर को खाड़ी सहयोग परिषद  यानि जीसीसी से बाहर निकाले जाने की मांग की है.

अल-खलीफा ने सोमवार को कहा, “जीसीसी के संरक्षण के लिए सही कदम उठाया जाना कतर की सदस्यता को फ्रीज करना है, जब तक कि चारो देशों की मांग पूरी नहीं हो जाती.

उन्होंने कहा, अगर कतर आगामी जीसीसी सम्मेलन में उपस्थित रहेगा तो बहरीन खाड़ी सहयोग परिषद में भाग नहीं लेंगे. ध्यान रहे जून में, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन ने क्षेत्र में आतंकवादी समूहों को समर्थन देने का आरोप लगाते हुए कतर के साथ कूटनीतिक और व्यावसायिक संबंधों को अचानक खारिज कर दिया.

Loading...