क़तर और अरब देशों का विवाद सुलझने के बजाय दिन-प्रतिदिन उलझता ही जा रहा है. क़तर ने WTO से अरब देशों की शिकायत के बाद सयुंक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद का भी दरवाजा खटखटाया है.

क़तर सरकार ने महासचिव अंटोनियो गुटेरस और सुरक्षा परिषद को एक पत्र लिख कर मिस्र पर अपने राजनैतिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए सुरक्षा परिषद की सदस्यता से ग़लत लाभ उठाने का आरोप लगाया है. मिस्र ने पहली अगस्त से संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद की सदस्यता संभाली है जो एक महीने तक जारी रहेगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

संयुक्त राष्ट्र संघ में क़तर की प्रतिनिधि उलिया अहमद बिन सैफ़ आले सानी ने जुलाई के अंतिम दिनों में मिस्र के ख़िलाफ़ अपने देश की शिकायत राष्ट्र संघ के महासचिव और सुरक्षा परिषद के पूर्व प्रमुख को सौंपी. जिसमे क़तर सरकार ने कहा कि क़तर और सऊदी अरब के संबंधों में पैदा होने वाले हालिया तनाव में मिस्र ने पूरी तरह से सऊदी अरब का साथ दिया और दोहा से अपने संबंध समाप्त कर लिए.

गौरतलब रहें कि क़तर इससे पहले सऊदी अरब, मिस्र, यूएई और बहरीन की विश्व व्यापार संगठन में शिकायत कर चूका है.

Loading...