अमेरिका। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवारी की होड़ में मौजूद शीर्ष रिपब्लिकन नेताओं में इस बात पर सहमति है कि आईएसआईएस को परास्त करना अमेरिका के लिए शीर्ष प्राथमिकता है। हालांकि इन उम्मीदवारों के बीच इस बात पर तीखा मतभेद है कि उससे निबटा कैसे जाए। उम्मीदवारी की होड़ में आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रंप आईएसआईएस को परास्त करने के लिए रूस के साथ साझेदारी की हिमायत कर रहे हैं।

जेब बुश इसके लिए विशेष अमेरिकी बलों के साथ सुन्नी मुस्लिम नीत गठबंधन का नुस्खा पेश कर रहे हैं जबकि टेड क्रूज आईएसआईएस को परास्त करने के लिए जोरदार हवाई हमलों के साथ मैदान-ए-जंग में थलसैनिकों के भेजे जाने की संभावना खारिज नहीं करते। ट्रंप ने साउथ कैरोलिना के ग्रीनविले शहर में राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन बहस में हिस्सा लेते हुए कहा कि आईएसआईएस को नष्ट करने के लिए हमें बहुत बहुत जोरदार हमले करने होंगे। उन्होंने कहा कि ये हमले रूस के साथ मिल कर किए जाएंगे।

फ्लोरिडा के पूर्व गवर्नर जेब बुश ने आईएसआईएस को ध्वस्त करने के लिए रूस के साथ साझेदारी के विचार का विरोध किया। उन्होंने कहा कि यह एक समस्या है। बुश ने कहा कि रूस आईएसआईएस से नहीं निबट रहा है। वे उस टीम पर हमले कर रहा है जिसे हम प्रशिक्षण दे रहे हैं और जिसका हम समर्थन कर रहे हैं। यह कहना बिल्कुल बेहूदगी है कि रूस इसमें कोई सकारात्मक साझेदार हो सकता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बुश ने कहा कि मैं तत्काल घेरने और सीमित करने की नीति तैयार करूंगा क्योंकि यह ईरान की महत्वाकांक्षओं से जुड़ा है, और यह साफ करूंगा कि ईरान जो कुछ कर रहा है, हम उसकी इजाजत नहीं देने जा रहे हैं, जो परमाणु हथियारों की तरफ बढ़ना है। उन्होंने कहा कि हमें आईएसआईएस को तबाह करने के लिए अपने विशेष संचालकों के साथ जमीन पर सुन्नी नीत गठबंधन बनाने और स्थिरता लाने की जरूरत है।

क्रूज ने कहा कि जहां आईएसआईएस को परास्त करने की बात है, एक समर्पित उद्देश्य और एक कमांडर इन चीफ की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमें जबरदस्त हवाई ताकत की जरूरत है, हमें कुर्दों को हथियारबंद करने की जरूरत है जो जमीन पर हमारे सैनिक हो सकते हैं, और अगर थल सैनिक जरूरी हैं तो हम उन्हें तैनात करेंगे, लेकिन यह राजनीतिक सख्त रुख दिखाने वाले राजनीतिज्ञ नहीं होने चाहिए। यह कमांडर इन चीफ की ओर से तय उद्देश्य पूरा करने वाले सैन्य विशेषज्ञ होने चाहिए।

सीनेटर मार्को रूबियो ने शीर्ष खतरे के रूप में उत्तर कोरिया को चिह्नि किया। दूसरे नंबर पर आईएसआईएस का उभरता खतरा था। ओहायो के पूर्व गवर्नर जान कसिच भी आईएसआईएस से लड़ने में रूस की मदद लेने की ट्रंप की तजवीज के खिलाफ थे। (ibnlive)