पिछले पांच साल से जंग झेल रहे सीरिया के अब भी कोई हालात नहीं बदले हैं. राष्ट्रपति पद को लेकर हो रही इस जंग के चलते लाखों बेगुनाहों को अपनी जान गंवानी पड़ी हैं. ऐसे में अब सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद का बयान आया हैं कि सीरिया उनकी अथवा उनके ख़ानदान की जागीर नहीं है और कोई भी सीरियाई नागरिक देश का राष्ट्रपति बन सकता है.

बेल्जियम के मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि आईएसआईएस और और अन्नुसरह फ़्रंट जैसे संगठनों का मुकाबला करने के लिए बड़े पैमाने पर संसाधनों और सामरिक रणनीति की ज़रूरत है. सीरियाई सरकार जनता की रक्षा के लिए सीरियाई सरकार सभी संसाधनों का उपयोग कर रही हैं.

असद ने कहा कि आतंकवाद से लड़ना सीरियाई सरकार और सेना का दायित्व है, यह एक विकल्प नहीं बल्कि निश्चित कर्तव्य है. उन्होंने आगे कहा कि सीरिया में शांति का रास्ता यही है कि आतंकवाद का सफ़ाया किया जाए, आतंकी संगठनों का समर्थन बंद करवाया जाए और फिर सीरियाई संगठनों के बीच वार्ता हो और देश के भविष्य तथा संप्रभुता के बारे में फ़ैसला किया जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने अमरीकी गठबंधन की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि यह काल्पनिक और ग़ैर क़ानूनी गठबंधन हैं क्योंकि इसका गठन सीरियाई सरकार की अनुमति के बग़ैर किया गया है जो सीरियाई की राष्ट्रीय प्रभुसत्ता का उल्लंघन है.बश्शार असद ने यूरोपीय संघ से मांग की कि सीरिया के बारे में पारदर्शी नीति अपनाए और आतंकियों का समर्थन बंद करे

Loading...