Wednesday, June 23, 2021

 

 

 

इजरायलियों के आंसू गैस के हमले से फिलिस्तीनी महिला का हुआ गर्भपात

- Advertisement -
- Advertisement -

पिछले महीने रामल्ला के पास अल-मुगय्यर गांव में इजरायली सैनिकों द्वारा बार-बार आंसू गैस के गोले दागे जाने से सात महीने की गर्भवती फिलिस्तीनी मां का गर्भपात हो गया।

जानकारी के अनुसार, 37 साल के आरिज अबू आलिया को हमले के दौरान बहुत सारी गैस का सामना करना पड़ा और उनका दम घुटने लगा। पति इयाद द्वारा उन्हे अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी हालत बिगड़ गई। उपचार के दौरान, डॉक्टरों ने पाया कि उनके बच्चे की नब्ज का अब पता नहीं चला है। बहुत सारा खून बहने के बाद आरिज कई दिनों तक आईसीयू में रही।

इयाद ने वफ़ा समाचार एजेंसी को बताया, “हम बहुत खतरनाक क्षेत्र में रहते हैं ।” “आंसू गैस के कनस्तर घर के अंदर बिखरे हुए हैं, और मैं अब उन्हें हमारी पहुंच से बाहर फेंकने के लिए तुरंत इकट्ठा नहीं कर सकता।”

इयाद के अनुसार, आंसू गैस लगभग हर रात सोते समय खिड़कियों के माध्यम से आती है। “हर हफ्ते मैं अपने बच्चों को गाँव के डॉक्टर के पास ले जाता हूँ, उनमें से सभी में गंभीर लक्षण होते हैं, आंसू गैस से फेफड़ों में जलन होती है, जिसके कारण उन्हें उल्टी होती है, और सीने में दर्द और गंभीर खांसी होती है।”

उनका मानना है कि इजरायल के कब्जे वाली ताकतों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली गैस एक नई और अधिक विषैली है। फिलिस्तीनी डॉक्टरों ने रासायनिक हथियारों का उपयोग करने, आंसू गैस के स्थान पर कब्जे वाले क्षेत्रों में लोगों पर नई किस्मों का परीक्षण करने का आरोप लगाया है।

इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में फिलिस्तीनी कस्बों और गांवों पर हमले और बर्बरता के मामले रोज सामने आते हैं। अवैध रूप से बसने वाले और इजरायली सैनिक हमेशा अपराधी होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles