ऑंगफोर्ड यूनिवर्सिटी के सेंट ह्यूग कॉलेज की दीवार से ऑंग सान सु की पोर्ट्रेट हटा दिया गया है. ध्यान रहे म्यांमार की वर्तमान राज्य सलाहकार सु की 1967 में यहाँ की विद्यार्थी रह चुकी है.

सेंट ह्यूग के अखबार द स्वान के मुताबिक, पोर्ट्रेट को हटाने का फैसला कॉलेज में कुछ दिनों पहले कॉलेज में हुए एक प्रदर्शन के बाद लिया गया. ये प्रदर्शन म्यांमार पर संयुक्त राष्ट्र द्वारा आरोप “जातीय सफाई” केआरोपों के बीच सू की  ख़ामोशी को लेकर किया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जापानी कलाकार योशिहिरो टकडा की पेंटिंग से तैयार हुआ ये पोर्ट्रेट  कॉलेज के मुख्य भवन के द्वार पर लगा हुआ है. सेंट ह्यूग कॉलेज के संचार प्रबंधक बिन्यामीन जोन्स ने  बताया: “कॉलेज को इस महीने की शुरुआत में एक नई पेंटिंग का उपहार मिला, जो एक अवधि के लिए प्रदर्शित की जायेगी. हालांकि आंग सान सू की पेंटिंग को इस दौरान स्टोरेज में रखा जायेगा”

उन्होंने कहा कि पेंटिंग को बदलने का फैसला कॉलेज के शासी निकाय द्वारा किया गया. म्यांमार में कथित मानवाधिकारों के दुरुपयोग में सुक़ी की सहभागिता ने यूके के कार्यकर्ताओं को संस्थानों को मानकों की समीक्षा करने के लिए दबाव बनाने पर प्रेरित किया.

हाल ही में यूनिसन ने  सू की की सदस्यता को निलंबित कर दिया. ध्यान रहे यूनिसन यूके में दूसरा सबसे बड़ा व्यापार संघ है

Loading...