Sunday, October 24, 2021

 

 

 

तुर्की में हागिया सोफिया को मस्जिद में बदलने पर बहुत व्यथित किया: पोप फ्रांसिस

- Advertisement -
- Advertisement -

VACTICAN CITY: पोप फ्रांसिस ने रविवार को कहा कि वह बीजान्टिन युग के स्मारक हागिया सोफिया को वापस मस्जिद में बदलने के तुर्की के फैसले से वह “बहुत व्यथित” थे।

उन्होने कहा, “मेरे विचार इस्तांबुल जाते हैं। मैं हागिया सोफिया के बारे में सोच रहा हूं। मैं बहुत व्यथित हूँ।” तुर्की के इस फैसले पर  वेटिकन की यह पहली प्रतिक्रिया है। वहीं अमेरिका ने भी तुर्की केइस कदम पर “निराश” व्यक्त की और सभी आगंतुकों के लिए समान पहुंच का आग्रह किया।

विदेश विभाग के प्रवक्ता मॉर्गन ऑर्टागस ने कहा, “हम तुर्की सरकार द्वारा हागिया सोफिया की स्थिति बदलने के फैसले से निराश हैं।” उन्होंने कहा, “हम समझते हैं कि तुर्की सरकार सभी आगंतुकों के लिए हागिया सोफिया तक पहुंच बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, और हागिया सोफिया के निरंतर नेतृत्व के लिए इसकी योजनाओं को सुनने के लिए तत्पर है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह सभी के लिए बिना किसी बाधा के सुलभ है।”

हालांकि तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने इस्तांबुल के ऐतिहासिक हागिया सोफिया को एक संग्रहालय से मस्जिद में बदलने के फैसले पर अंतरराष्ट्रीय निंदा को खारिज कर दिया, यह कहते हुए कि यह अपने “संप्रभु अधिकारों” का उपयोग करने के लिए अपने देश की इच्छा का प्रतिनिधित्व करता है।

एर्दोगन ने शनिवार को वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक समारोह में कहा, “जो लोग अपने ही देशों में इस्लामोफोबिया के खिलाफ कदम नहीं उठाते हैं … अपने संप्रभु अधिकारों का इस्तेमाल करने के लिए तुर्की की इच्छाशक्ति पर हमला करते हैं।”

उन्होने कहा, “हागिया सोफिया का पुनरुत्थान आने वाले दुनिया भर के मुसलमानों की इच्छा के नक्शेकदम पर चलने वाला है … हागिया सोफिया का पुनरुत्थान सभी उत्पीड़ितऔर शोषितों मुसलमानों के लिए आशा की आग है।” हालाँकि, इसी कथन के अरबी अनुवाद से पता चलता है कि तुर्की का हागिया सोफिया कदम इजरायल से “अल-अक्सा की आजादी की वापसी” का हिस्सा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles