पोप फ्रांसिस एक ऐतिहासिक यात्रा के तहत शुक्रवार को इराक पहुँच चुके हैं। उनकी यह पहली यात्रा है। पोप इराक की चार दिवसीय यात्रा के लिए रोम के लियोनार्डो दा विंची हवाई अड्डे से रवाना हुए। वह इराक के शीर्ष शिया धर्मगुरु ग्रैंड अयातुल्ला अली सिस्तानी से मिलने वाले हैं।

पोप फ्रांसिस चार इराकी शहरों का दौरा करेंगे, जिनमें मोसुल भी शामिल है जो दाएश आतंकवादी समूह का पूर्व गढ़ थे। इराक के अंदर पोप के स्वागत के लिए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वह सोमवार सुबह रोम लौटेंगे। 2019 के बाद पोप ने रोमन चर्च और इस्लाम के बीच अंतर-संवाद के एक नए चरण का उद्घाटन किया।