म्यांमार के राखिने में एक बार फिर से बड़े पैमाने पर हिंसा शुरू हो चुकी है. अब तक म्यांमार सेना की कार्रवाई में 100 से ज्यादा लोगों की मौते हो चुकी है. इसी बीच ईसाई धर्मगुरु ने म्यांमार का दौरा करने का निश्चय किया है.

वेटिकन ने सोमवार घोषणा की कि पोप फ्रांसिस 27 से 30 नवंबर तक म्यांमार में रहेंगे. उसके बाद वह 30 नवंबर से दो दिसंबर तक बांग्लादेश दौरे पर जाएंगे. पोप ने रोहिंग्या अल्पसंख्यकों पर अत्याचार को लेकर दुःख जताया है.

हिंसा के कारण हजारों हजारों रोहिंग्या पड़ोसी बांग्लादेश की ओर रोह कर रहे है. लेकिन म्यांमार ने तटीय इलाकों में रहने वाले रोहिंग्या मुसलमानों की नावें जब्त कर ली गई हैं. ताकि रोहिंग्या बांग्लादेश में भी शरण न ले सके.

बर्मा में रोहिंग्‍या मुस्लिमों की करीब 40 लाख की आबादी थी. कत्‍लेआम में करीब एक लाख रोहिंग्या की मौत हो चुकी है. बौद्ध रोहिंग्‍या मुस्लिमों को गुलाम मानते है.

वे कहते है कि तुम बांग्‍लादेश के हो. तुम्‍हारे पुरखे 600 साल पहले बांग्‍लादेश से गुलाम बनाकर यहां (बर्मा) लाए गए थे. तुम भी गुलाम हो. बांग्‍लादेश जाओ, भारत जाओ.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?