Sunday, September 19, 2021

 

 

 

सिखों के बाद हिंदुओं को पीएम इमरान का बड़ा तोहफा, पंज तीरथ को घोषित किया राष्ट्रीय विरासत

- Advertisement -
- Advertisement -

पश्चिमोत्तर पाकिस्तान में खैबर पख्तुनवा प्रांत की सरकार ने पेशावर में स्थित प्राचीन हिन्दू धार्मिक स्थल पंज तीरथ को राष्ट्रीय विरासत घोषित किया है। बता दें कि यहां स्थित पांच सरोवर के चलते इसका नाम पंज तीरथ पड़ा।

खैबर पख्तूनख्वा के डायरेक्टरेट ऑफ आर्कियोलॉजी एंड म्यूज़ियम ने KP एंटीक्विटीज़ ऐक्ट 2016 के तहत एक नोटिफिकेशन जारी की। इस नोटिफिकेशन के जरिए पंज तीरथ पार्क को एक ऐतिहासित विरासत घोषित कर दिया गया। 

सरकार ने इसके साथ ही इस ऐतिहासिक स्थल को क्षतिग्रस्त करने का दोषी पाये जाने वाले व्यक्ति पर 20 लाख रूपये का जुर्माना और पांच साल तक की सजा की घोषणा की है। पुरातत्व निदेशालय ने खैबर पख्तूनख्वा सरकार से इस जगह के आसपास मौज़ूद अतिक्रमण भी साफ कराने को कहा है। निदेशालय ने सरकार से इस जगह के चारों तरफ एक बाउंडरी वॉल बनाने के लिए भी कहा है। 

ऐसा माना जाता है कि इस जगह का संबंध महाभारत काल के पांडु से था। हिंदू कार्तिक महीने में इन तालाबों में स्नान करने आते थे और दो दिनों तक इन पेड़ों के नीचे पूजा-अर्चना करते थे।
1747 में अफगान दुर्रानी राजवंश के शासनकाल के दौरान यह स्थल क्षतिग्रस्त हो गया।

हालांकि, 1834 में सिख शासन की अवधि के दौरान स्थानीय हिन्दुओं ने पुर्निनमाण कर पूजा अर्चना शुरू की।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles