source: AP

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक 7 साल की बच्ची का बलात्कार करने के बाद उसे मौत के घाट उतार दिया. गुस्साई लोगों ने एक थाने और सरकारी इमारत पर भी  हमला कर दिया. पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में दो लोगों की मौत हो गई और कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ के मुताबिक, ‘प्रांत के कासुर जिले में बुधवार को पीड़िता के अंतिम संस्कार के बाद से ही लोगों में गुस्सा और नाराज़गी बढती दिखाई देने लगी. लोगों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया इसी के साथ दरिंदों के खिलाफ नारेबाज़ी भी की गयी. प्रदर्शनकारियों ने दोषियों को पकड़ने में नाकाम रहने का आरोप लगते हुए  पुलिस के खिलाफ भी जमकर प्रदर्शन किया.  इसी दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने उपायुक्त कायार्लय पर हमला करने की कोशिश की. जिन्हें रोकने के लिए पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोली चला दी और उन्हें मौत के घाट उतार दिया .

प्रांतीय शासन के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी करने के जुर्म में चार पुलिसकर्मियों और दो नागरिक रक्षा कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.आपको बता दें कि पिछले हफ्ते बच्ची को उसके घर के बाहर से अगवा कर लिया गया था. मंगलवार को उसका शव कचरे में पड़ा मिला. पोस्टमार्टम से पता चला की बच्ची के साथ बलात्कार किया गया था. बच्ची कुछ दिनों के लिए अपने रिश्तेदारों के यहाँ रह रही थी क्योंकि उसके माता-पिता उमराह (इस्लामिक तीर्थयात्रा) के लिए सऊदी अरब गए हुए थे. उनके भारत लौटने के बाद बुधवार को बच्ची को दफनाया गया. पुलिस ने मामले का शक ज़ाहिर करते हुए चार संदिग्धों को हिरासत में लिया है.

 वहीँ पुलिस ने बताया कि, वह उस शख्स की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं जो फुटेज में बच्ची को साथ लेकर जाता हुए दिख रहा है. उधर, लाहौर उच्च न्यायालय (एलएचसी) के मुख्य न्यायाधीश मंसूर अली शाह ने हत्या के इस मामले पर संज्ञान लेते हुए पंजाब सरकार से जल्द ही रिपोर्ट की मांग की है. पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने कहा है कि, वह खुद इस मामले की कड़ी निगरानी करेंगे और तब तक चैन से नहीं बैठेंगे, जब तक कि दोषियों का पता नहीं लगा लेते.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?