सीरिया की हवाई छावनी पर अमेरिका के मिज़ाइल हमले के खिलाफ सीरिया के लोगों ने राजधानी दमिश्क में सड़को पर उतरकर जमकर प्रदर्शन किया. साथ ही सीरियाई लोगों ने इस हमलें के खिलाफ अमेरिका पर कारवाई करने की भी मांग उठाई.

अमेरिका विरोधी प्रदर्शनों में भाग लेने वाले सीरिया के एक नागरिक ने कहा कि अमेरिका के प्रक्षेपास्त्रिक हमले में मारे जाने वाले सैनिक सीरियाई राष्ट्र के भाग हैं और यह हमला एक युद्ध-अपराध है और हम किसी प्रकार से उसे स्वीकार नहीं करते.

याद रहे मंगलवार को सीरिया के एदलिब प्रांत में संदिग्ध रासायनिक हमलें के बाद शुक्रवार की सुबह हुम्स की शइरात हवाई छावनी पर अम्रेरिका ने मिसाइलों से हमला किया. अमेरिका ने भूमध्य सागर में स्थित अपने दो जहाज़ों से 59 क्रूज़ मिजाइल फायर किये जिसमें चार बच्चों सहित 9 लोग मारे गये जबकि कुछ घायल हो गये.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सीरिया पर अमेरिका का ये मिज़ाइली हमला सुरक्षा परिषद की अनुमति के बिना हुआ है और उससे मध्यपूर्व विशेषकर सीरिया की स्थिति और जटिल हो गयी है. सीरियाई सरकार सहित इस हमलें की रूस और ईरान ने कड़ी आलोचना की हैं.

सीरियाई सरकार ने अपने बयान’ में कहा, अमेरिका का मिज़ाइली हमला सीरिया की संप्रभुता का उल्लंघन है और वह अंतरराष्ट्रीय कानूनों से खुला विरोधाभास रखता है. वास्तव में अमेरिका के हमले और आतंकवादियों की गतिविधियां सीरियाई जनता की हत्या में गति प्रदान करने हेतु एक दूसरे की पूरक हैं.

Loading...