पिछले महीने अल अक़्सा मस्जिद की पाबंदी के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के बीच इजरायल के दूतावास के गार्ड के हाथों दो नागरिको की हत्या चलते जॉर्डन की जनता में भारी रोष है.

जाॅर्डन की संसद में 130 में से 82 सांसदों ने एक पत्र पर दस्तख़त कर अम्मान में इजरायली दूतावास को बंद करने की मांग के साथ इजरायली राजदूत को देश से बाहर निकालने और तेल अवीव से जाॅर्डन के राजदूत को वापस बुलाने को कहा है.

इसी बीच अब जॉर्डन की जनता भी इजरायल से रिश्तों के खिलाफ है. शुक्रवार की नमाज़ के बाद अम्मान में ज़ायोनी दूतावास के निकट आयोजित हुआ, जिसमें जनता ने तेल अविव शासन के साथ 1994 में हुयी बदनाम शांति संधि को भी निरस्त करने की मांग की.

जॉर्डन की जनता ने देश की सरकार से तेल अविव के साथ हुए गैस समझौते को भी ख़त्म करने की भी मांग की. ध्यान रहे 23 जुलाई को इस्राईली दूतावास के गार्ड ने जॉर्डन के दो नागरिकों को राजधानी अम्मान में गोली मार दी थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?