ईरान हमले के सच को नहीं छुपा पाया अमेरिका, अब बोला – 64 सैनिक हुए घायल

पेंटागन ने एक बार फिर से इराक में ईरान के जवाबी मिसाइल हमले में घायल हुए सैनिकों का आंकड़ा बढ़ाकर 64 कर दिया है, उन्होंने कहा है कि उन्हें “दर्दनाक दिमागी चोटें” लगी हैं।

पेंटागन के प्रमुख मार्क ओलेरो और ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टॉफ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिले ने कहा कि गुरुवार को सेना ने आलोचनाओं के बाद इस तरह की चोटों को बहुत गंभीरता से लिया था कि अधिकारियों ने उन्हें छुपाने की कोशिश की।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने पेंटागन के एक बयान का हवाला दिया, जिसमें घायल सैनिकों की कुल संख्या 68 बताई गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि आठ सैनिकों का इलाज वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में चल रहा है। 21 लैंडस्टुहल, जर्मनी में हैं। इसके अलावा 39 घायल सैनिक इराक में सैन्य अभियानों में लौट आए हैं।

बता दें कि तीन जनवरी को वाशिंगटन के शीर्ष आतंकी कमांडर जनरल कासिम सोलीमनी की हत्या के जवाब में ईरान ने 8 जनवरी को बगदाद में अमेरिकी बेस पर मिसाइल हमले किए थे। जिसमे 80 अमेरिकी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया था। हालांकि उस वक्त अमेरिकी राष्ट्रपति ने किसी भी प्रकार की हानि से इंकार किया था।

मिसाइल हमले के एक दिन बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा, “हमें कोई हताहत नहीं हुआ, हमारे सभी सैनिक सुरक्षित हैं, और हमारे सैन्य ठिकानों पर केवल न्यूनतम क्षति हुई है।” एक हफ्ते बाद, हालांकि, अमेरिकी सेना ने कहा कि 11 हमले में घायल हो गए थे।

विज्ञापन