Thursday, August 5, 2021

 

 

 

फिलिस्तीनियों ने अमेरिका की ‘डील ऑफ सेंचुरी’ को किया मानने से इंकार

- Advertisement -
- Advertisement -

फिलिस्तीनी गुटों ने इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष पर विवादास्पद अमेरिकी योजना की एक बार फिर से अस्वीकृत कर दिया। जिसका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा इस सप्ताह में पेश किया जाएगा।

फिलिस्तीनी प्राधिकरण के प्रवक्ता नबील अबू रूदीनेह ने जोर देकर कहा कि फिलिस्तीनियों को और से इस योजना की अनुमति नहीं दी जाएगी, जिसे ट्रम्प ‘डील ऑफ सेंचुरी’ कहते हैं।

अबू रूदीनेह ने कहा, “हमारे लोगों के समर्थन के साथ, फिलिस्तीनी नेतृत्व, फिलिस्तीनी कारण को नष्ट करने के प्रयासों को हरा देगा।” उन्होंने कहा, “नेतृत्व सभी स्तरों पर बैठकों की एक श्रृंखला आयोजित करेगा – जिसमें गुटों और संगठनों को शामिल किया जाएगा।

प्रवक्ता ने फिलिस्तीनी रुख का समर्थन करने के लिए अरब दुनिया का भी आह्वान किया, यह चेतावनी देते हुए कि ट्रम्प की योजना क्षेत्र में उथल-पुथल मचेगी। एक फ़िलिस्तीनी अधिकारी, जिन्होंने नाम न छापने की शर्त पर बात की, ने सोमवार को कहा कि फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने ट्रम्प से फ़ोन पर उनके बार-बार किए अनुरोध को अस्वीकार कर दिया।

वहीं हमास प्रतिरोध आंदोलन के राजनीतिक नेता इस्माइल हन्नेह ने यह भी जोर देकर फिलिस्तीनी संघर्ष में “नए चरण”की चेतावनी देते हुए कहा कि यह डील विफल होने के लिए है। उन्होने कहा, “हम दृढ़ता से घोषणा करते हैं कि ‘डील ऑफ सेंचुरी’ पारित नहीं होगा। फिलिस्तीन के खिलाफ लक्षित नया प्लॉट विफल होने के लिए बाध्य है,” और इजरायल के खिलाफ फिलिस्तीनियों को “उनके संघर्ष में एक नया चरण” दे सकता है।

बता दें कि ट्रम्प ने 28 जनवरी को व्हाइट हाउस में इजरायल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनके मुख्य राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी बेनी गैंट्ज़ की मेजबानी की, ताकि इस तथाकथित डील का अनावरण किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles