मुसलमानों के लिए दुनिया का तीसरा सबसे पवित्र स्थल पहुंचा संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के प्रतिनिधिमंडल फिलिस्तीनियों ने वहाँ से हटने के लिए मजबूर कर दिया।

जानकारी के अनुसार, यूएई के प्रतिनिधिमंडल ने इजरायल पुलिस की सुरक्षा में अल अक्सा मस्जिद में प्रवेश की कोशिश की। लेकिन ये कोशिश फिलिस्तीनीयों के आगे नाकामयाब हुई।

फुटेज में, एक फिलीस्तीनी व्यक्ति ने यूएई के प्रतिनिधिमंडल की इजरायल के साथ हुए समझौते को लेकर आलोचना की और उन्हें तुरंत अल अक्सा छोड़ने के लिए कहा। हालांकि कुछ समय बाद ही, समूह को मस्जिद छोड़ते हुए देखा जाता है।

यह यात्रा बहरीन और इज़राइल के राजनयिक संबंधों को औपचारिक रूप देते हुए रविवार को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के दौरान सामने आई।

फिलिस्तीनी प्रधान मंत्री मुहम्मद शतयेह ने इस सौदे को “इजरायल के कब्जे से मुक्त इनाम के रूप में वर्णित किया, ताकि यह अधिक फिलिस्तीनी भूमि को जब्त करने और अधिक बस्तियों का निर्माण करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।”

शतेयह ने सोमवार को साप्ताहिक कैबिनेट बैठक के दौरान कहा, “अल-अक्सा मस्जिद में  उसके मालिकों के द्वार के माध्यम से प्रवेश किया जाएगा, न कि इजरायल के कब्जे के द्वार के माध्यम से।”

उन्होंने कहा, “कुछ अरब प्रतिनिधिमंडलों को इजरायली गेट के माध्यम से परिसर में प्रवेश करते हुए देखना दुखद है, जबकि उपासकों को अपनी प्रार्थना करने के लिए इसकी अनुमति नहीं है।”

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano