1991 के खाड़ी युद्ध के बाद एक बार फिर से फिलिस्तीनी शिक्षक कुवैत में बच्चों का भविष्य संवारते नजर आयेंगे. दरअसल, कुवैत की सरकार पिछले साल फिलिस्तीनी शिक्षकों की नियुक्ति पर से प्रतिबंध हटा लिया है.

कुवैत सरकार के इस फैसले के बाद फिलिस्तीनी शिक्षकों का पहला बैच 25 साल बाद कुवैत लौट आया है. याद रहे कुवैत पर 1990-1991 में इराक के आक्रमण के बाद कई फिलिस्तीनी शिक्षको ने कुवैत छोड़ दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एक अनुमान के मुताबिक़ कुवैत के शिक्षा मंत्रालय ने गणित और विज्ञान पढ़ाने वाले 105 फिलिस्तीनी शिक्षकों के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किए थे.  नेशनल एसेंबली की शिक्षा समिति के अध्यक्ष मोहम्मद अल-हुवेलाह ने कहा कि वह आश्वस्त हैं कि फिलिस्तीनी शिक्षक कुवैत के शिक्षा स्तरों को बढ़ावा देंगे.

शिक्षा मंत्रालय के अंडरसेक्रेटरी हैथम अल-अथारी ने सोमवार को  बताया कि मंत्रालय ऐसे फिलिस्तीनी शिक्षकों को नियुक्त करने का इच्छुक है, जो अपनी योग्यताओं से शैक्षणिक सुधार में योगदान दे सकें.

अल अथारी ने कहा कि मंत्रालय नागरिकता को परे रखकर बेहतरीन शिक्षकों को नियुक्त करने का इच्छुक है. हालांकि, शिक्षा की प्रक्रिया को उच्च स्तरों तक ले जाने में कुवैती शिक्षकों का योगदान मुख्य रहेगा.

Loading...