फिलिस्तीन को लेकर ईरान ने कुछ मुस्लिम और अरब देशों के रवैये पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि फिलिस्तीन की पूर्ण आजादी इस्लामिक दुनिया के लिए सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है.

विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासेमी ने शुक्रवार को कहा कि एक अरब देश का  इस्लामी जगत के शरीर पर 7 दशकों के पुराने घाव को मामूली मुद्दा बताना शर्मनाक है. उन्होंने कहा, समस्त षडयंत्रों के बावजूद पूर्णरूप से आज़ाद होने तक फ़िलिस्तीन इस्लामी जगत का प्रथम मुद्दा रहेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ईरानी विदेश मंत्रालय का ये बयान बहरैन के विदेशमंत्री ख़ालिद बिन अहमद आखे ख़लीफ़ा के उस बयान की प्रतिक्रिया में आया है. जिसमे बैतुल मुकद्दस के मामले को एक छोटा व आंशिक मामला बताया गया. साथ ही कहा गया कि फ़िलिस्तीन के मुद्दे पर अमेरिका से मतभेद करने का कोई लाभ नहीं है

ध्यान रहे बहरैन के विदेशमंत्री का ये बयान ऐसी स्थिति में आया था जब जेरुसलम पर सयुंक्त राष्ट्र महासभा में वोटिंग के लिए पूरी दुनिया एकजुट हो रही थी.

हालांकि बहरीन के इस विवादास्पद बयान के बावजूद भी बैतुल मुकद्दस से संबंधित प्रस्ताव के मसौदे को सयुंक्त राष्ट्र में 128 वोट मिले.

Loading...