रामल्लाह: इजरायली सेना की झड़प में एक फिलिस्तीनी नौजवान शहीद हो गया हैं, वहीँ इस्राईली जेल में भी क़ैद एक फ़िलिस्तीनी क़ैदी की भी मौत हो गई है.

जॉर्डन नदी के पश्चिमी किनारे में स्थित बैतलेहम में इस्राईली सैनिकों ने एक फ़िलिस्तीनी युवक को गोली मार कर शहीद कर दिया. साथ ही 4 अन्य फ़िलिस्तीनी युवक घायल हैं. दूसरी तरफ सोमवार को ही इस्राईली जेल में क़ैद फ़िलिस्तीनी युवक महमूद बसीला की हॉर्ट अटैक से मौत हो गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

17 वर्षीय बसीला के पिता का कहना है कि उनके बेटे की उम्र बहुत कम थी और पिछले ढाई वर्षों से इस्राईली सेना ने उसे क़ैद कर रखा था.अल अरबिया डॉट नेट की खबरों के मुताबिक़, इजरायली सेना की गोलीबारी में शहीद होने वाले नौजवान का नाम कसाई ऑल अमूर है. 17 वर्षीय इस युवक के छाती में सीधी गोली मारी गई थी.

गौरतलब रहें कि अक्टूबर 2015 के बाद से अब तक इजरायली सेना के जुल्म से 249 फ़िलिस्तीनी शहीद हो चुके हैं. इनमें 150 के बारे में इजरायली सेना ने दावा किया है कि वह कथित हमलावर थे.

Loading...