मुसलामानों के तीसरे सबसे पवित्र नगर बैतूल मुक़द्दस पर अपना कब्ज़ा जमाने के लिए इजराइल ने दस हजार घरों के निर्माण की मंजूरी दे दी हैं.

इन घरों का निर्माण अतरूत में क़लंदिया और बैतुल मुक़द्दस हवाई अड्डे के पास होगा. इजराइल का ये फैसला अंतराष्ट्रीय कानूनों के खिलाफ हैं. इस निर्माण की मंजूरी ऐसी स्थिति में दी गई हैं जबकि संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद ने 23 दिसंबर को फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों में ज़ायोनी बस्तियों के निर्माण की निंदा में एक प्रस्ताव प्रारित किया जा चूका हैं.

दरअसल, इजराइल फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों में बस्तियों का निर्माण करके फ़िलिस्तीन की भौगोलिक स्थिति को अपने पक्ष में बदलने और इन क्षेत्रों को इस्राईली क्षेत्र बनाने के प्रयास में है ताकि फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों में अपने वर्चस्ववाद को सुरक्षित रख सके.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस्राईली बस्तियां निर्माण करके फ़िलिस्तीनी क्षेत्रों को एक दूसरे से अलग करने के प्रयास में है ताकि बैतुल मुक़द्दस की राजधानी वाले एक स्वतंत्र देश के गठन के लिए एकजुट फ़िलिस्तीनी क्षेत्र का अस्तित्व ही समाप्त हो जाए.