Saturday, July 24, 2021

 

 

 

अमेरिकी मध्यस्थता के सुझाव को भारत ने नकारा, तो वहीं पाक ने किया स्वागत

- Advertisement -
- Advertisement -

Pathankot attack India handed Pakistan evidence, action will only talks had!भारत और पाकिस्तान के बीच बड़ते तनाव के चलते अमेरिका ने अपनी तटस्थ नीति में परिवर्तन करते हुए दोनों देशों के बीच मध्यस्थता करने के सुझाव दिया हैं. जिससे भारत ने तो नकार दिया लेकिन अमेरिका के इस सुझाव का पाकिस्तान ने स्वागत किया हैं.

पाकिस्तान ने  कहा है कि दक्षिण एशिया में शांति एवं स्थिरता लाने के लिए अमेरिका द्वारा निभाई जाने वाली ‘किसी भी सकारात्मक भूमिका’ से क्षेत्र का भला होगा. पाकिस्तानी न्यूज़ पेपर डॉन ने वाशिंगटन में पाकिस्तान के दूत एजाज अहमद चौधरी का हवाला देते हुए लिखा, दक्षिण एशिया में शांति एवं स्थिरता लाने के लिए अमेरिका जो भी सकारात्मक भूमिका निभाता है, वह क्षेत्र के भले के लिए होगा. चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान की दिलचस्पी ऐसे प्रयासों में है क्योंकि वह भारत के साथ अच्छे पड़ोसियों वाले संबंध चाहता है.

वहीँ भारत की और से अमेरिका के इस सुझाव को नकार दिया गया हैं. भारत की और से कहा गया कि पाकिस्तान के साथ उसके सभी द्विपक्षीय मुद्दों पर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि भारत सरकार यह मानती है कि पाकिस्तान के साथ सभी विवादों का समाधान बिना किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता के द्विपक्षीय बातचीत से होनी चाहिए.

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्‍थाई सदस्‍य निकी हेली ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक भूमिका निभा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles