hina rabbani khar 3

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सत्ता में आने के साथ ही अमेरिका और पाकिस्तान के रिश्तों में दरार दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है. ऐसे में अब पाकिस्तान की पूर्व विदेशमंत्री हिना रब्बानी खार ने कहा कि अमेरिका के साथ पाकिस्तान को अच्छे रिश्तों के बारें में भूल जाना चाहिए.

अफ़ग़ानिस्तान और दक्षिणी एशिया के लिए नई अमरीकी रणनीति के सबंध में चर्चा करते हुए हिना ने कहा, र्तमान स्थिति में पड़ोसी देशों के साथ गठजोड़ बनाना, पहली आवश्यकता है ताकि भविष्य के ख़तरों और चुनौतियों का सामना किया जा सके.

उन्होंने कहा, समय बदल चुका है किन्तु अब हमें यह भूल जाना चाहिए कि अमरीका के साथ अच्छे संबंध पाकिस्तान के हित में है. उन्होंने कहा कि अमरीका हित अब पाकिस्तान के बजाए भारत और चीन में है इसीलिए हमें उसके साथ भविष्य में अच्छे रिश्तों की उम्मीद रखना बेमानी है.

जेरुसलम के मुद्दें पर हिना ने कहा, इस प्रकार की कार्यवाही से अमरीका स्वयं ही दुनिया में अपना महत्व ख़त्म कर रहा है. उन्होंने कहा, जिस प्रकार से संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में इस अमरीकी फ़ैसले के विरुद्ध मतदान हुए उससे यह बात स्पष्ट हो जाती है कि ट्रम्प प्रशासन ने अमरीका को दुनिया में अकेला कर दिया है.

पूर्व विदेशमंत्री ने कहा कि जर्मनी और फ़्रांस जैसे देशों ने भी अमरीका के पक्ष में वोट नहीं दिया क्योंकि कोई भी देश किसी दूसरे देशों के हित के कारण इस प्रकार की बेइज़्ज़ती सहन नहीं कर सकता.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano