Thursday, October 21, 2021

 

 

 

26/11 के तीन आरोपियों को पाकिस्तान की अदालत ने सुनाई सज़ा

- Advertisement -
- Advertisement -

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) की एक अदालत ने मुंबई हमले के लिए धन मुहैया कराने के मामले में आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा (Jamat-ud-Dawa -JuD) के तीन आतंकियों को दोषी करार देते  हुए 16-16 साल की सजा सुनाई है।

मलिक जफर इकबाल, अब्दुल सलाम को चार मामलों में कुल 16-16 साल की सजा सुनाई। जबकि हाफिज अब्दुल रहमान मक्की को डेढ़ साल तक जेल में रहना होगा। ये तीनों  आतंकी सरगना हाफिज सईद के सहयोगी हैं, जिसे फरवरी में अदालत द्वारा आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने का दोषी पाया था और 11 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई थी।

सईद ने ही आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) की स्थापना की है। जिसने 2008 के मुंबई हमलों के लिए भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा दोषी एक समूह का नेतृत्व किया, जिसमें 160 लोग मारे गए, जिनमें अमेरिकी और अन्य विदेशी भी शामिल थे।

2011 में अमेरिका ने प्रतिबंधित सूची में जफर इकबाल का नाम शामिल करते हुए बताया था कि वह लश्कर का सह-संस्थापक है और आतंकी गतिविधियों के धन मुहैया कराने के लिए जिम्मेदार है।

वित्तीय कार्रवाई टास्क फोर्स (FATF) द्वारा वैश्विक वित्तीय निगरानी द्वारा आतंकवादी वित्तपोषण पर अंकुश लगाने में विफल रहने से बचने के लिए पाकिस्तान ने सितंबर की समयसीमा से पहले ये सजा सुनाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles