प्यार में नाकाम आशिकों के किस्सों से दुनिया की हर जुबान में किताबे भरी पढ़ी है. जिन्होंने खुद या तो अपनी जिंदगी को खत्म की है या किसी और के हाथों उनकी जिंदगी खत्म हुई है. लेकिन पाकिस्तान के एक आशिक का फसाना कुछ और ही है.

दरअसल, अपने प्यार में ये नाकाम पाकिस्तानी आशिक अपनी जान देने के लिए भारत में घुस आया. लेकिन अब अपने मकसद में कामयाब नहीं हो सका. पंजाब के फिरोजपुर के पास भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर 32 साल का मोहम्मद आसिफ बॉर्डर पर BSF की गोलियां खाने के लिए खड़ा हो गया.

लेकिन सीमा सुरक्षा बल की 118वीं बटालियन ने माबोकी बॉर्डर के पास उसे धर मैमडॉट पुलिस स्टेशन के हवाले कर दिया. पूछताछ में आसिफ ने सुरक्षा बलों के सामने अपनी नाकाम लव स्टोरी का बयान किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आसिफ ने बतलाया कि वो पाकिस्तान के कसौर जिले का रहने वाला है। उसे अपने बड़े भाई की साली से बेइंतहा मोहब्बत करता था. जिस युवती से आसिफ प्यार करता था उस युवती ने आसिफ से शादी करने से इनकार कर दिया. आसिफ का कहना था कि वो दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे, लेकिन युवती के घरवालों ने जबरदस्ती उसकी शादी कहीं और कर दी.

हालांकि कुछ समय पहले उसके पति से उसका तलाक हो गया. जिसके बाद वो एक बार फिर अपने पुराने प्यार के साथ शादी करने को राजी हो गया था. लेकिन घरवालों ने उसे ऐसा नहीं करने दिया.  इसके बाद उनसे आत्महत्या करने की ठानी. सबसे पहले उसने फांसी लगाकर अपनी जाने देने की सोची लेकिन पवित्र रमजान का महीना होने की वजह से उनसे फांसी लगाने की योजना छोड़ दी.

इसके बाद वो बॉर्डर के रास्ते पाकिस्तान की सीमा लांघ कर भारत में दाखिल हो गया और बॉर्डर के पास ही घूमने लगा ताकि सुरक्षा बल के जवान उसे गोली मार दें. आसिफ ने पूछताछ में बतलाया कि वो लोहे की दीवारें लांघ कर अंदर था. हालांकि बॉर्डर के इलाके में निहत्था घूम रहे इस शख्स को देखने के बाद सीमा सुरक्षा बलों ने उसे पकड़ लिया और फिर पुलिस के हवाले कर दिया.

बतलाया जा रहा है कि पाकिस्तान के एक धनी परिवार से ताल्लुक रखने वाले आसिफ ने स्टेशन हाउस ऑफिसर की परीक्षा हाल ही में पास की है. फिलहाल इस मामले में पुलिस ने उसपर इंडियन पासपोर्ट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है.

Loading...