Sunday, September 19, 2021

 

 

 

‘पाक अल्पसंख्यकों’ के साथ भारत जैसा कुछ न हो: इमरान खान

- Advertisement -
- Advertisement -

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने देश और भारत में अल्पसंख्यकों के हालात की तुलना करते हुए कहा कि भारत में जो हो रहा है उसकी तुलना में ‘नया पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को बराबरी का दर्जा मिलेगा।

मंगलवार को पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की जयंती के मौके पर उन्होंने कहा कि जिन्ना ने पाकिस्तान के ‘लोकतांत्रिक, न्यायपूर्ण और सद्भावनापूर्ण’ राष्ट्र बनने का सपना देखा था।

इमरान खान ने ट्वीट किया, ‘नया पाकिस्तान कायद-ए-आजम (जिन्ना) का पाकिस्तान होगा और सुनिश्चित करेगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ बराबरी का व्यवहार हो और भारत जैसा कुछ न हो।’

उन्होंने कहा कि जिन्ना चाहते थे कि पाकिस्तान में अल्संख्यक भी बराबरी का दर्जा पाएं।यह याद रखा जाना चाहिए कि उनका शुरुआती राजनीतिक जीवन हिंदू-मुसलमान एकता के लिए था। बता दें कि इससे पहले इमरान ने भारतीय अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बयान का जिक्र करते हुए कहा था, हम हिंदुस्तान को दिखा देंगे कि अल्पसंख्यकों के साथ किस तरह का बर्ताव किया जाता है। 

इस बयान पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर मो. कैफ ने कैफ ने ट्वीट किया, बंटवारे के समय पाकिस्तान में 20% अल्पसंख्यक थे। अब 2% से भी कम बचे हैं। दूसरी तरफ, आजादी के बाद से भारत में अल्पसंख्यकों की तादाद में काफी इजाफा हुआ है। पाकिस्तान तो ऐसा आखिरी देश होगा, जिसे अल्पसंख्यकों के साथ बर्ताव को लेकर नसीहत देनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles