म्यूनिख | आतंकवादियों का पनाहगार बना पाकिस्तान अब खुद इसकी आग में झुलस रहा है. वहां पिछले एक महीने में 8 से भी ज्यादा आतंकी हमले हो चुके है जिसमे 100 से भी ज्यादा लोगो की जान गयी है. लगातार आतंकी हमलो से परेशान , पाकिस्तान के अब आतंकवाद को लेकर सुर बदले बदले नजर आ रहे है. यही कारण है की उन्होंने मुंबई आतंकी हमलो का मास्टरमाइंड हाफिज सईद को नजरबन्द करके रखा हुआ है.

अब पाकिस्तान ने एक कदम और आगे बढ़ाते हुए हाफिज सईद को आतंकी घोषित कर दिया है. इसके अलावा यह भी स्वीकार किया है की हाफिज सईद समाज के लिए गंभीर खतरा बन गया है. पाकिस्तान के रक्षा मंत्री आसिफ ने जर्मनी के म्युनिख में हुए अन्तराष्ट्रीय सुरक्षा सम्मलेन में ये बाते कही. उन्होंने कहा की हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ी जा रही इस लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर तैनात है.

आतंकवाद के ऊपर बोलते हुए आसिफ ने कहा की हाफिज सईद देश और समाज के लिए एक गंभीर खतरा बन गए है. इसलिए देश के वृहद हित को देखते हुए उसे नजरबन्द करने का फैसला लिया गया. आतंकवाद को धर्म से जोड़ने पर उन्होंने कहा की आतंकवाद किसी धर्म का पर्याय नही है. आतंकवादी न इसाई है, न मुस्लिम और न ही हिन्दू. वो एक आतंकी है और अपराधी है.

आसिफ ने सभी देशो को आश्वस्त करते हुए कहा की मैं आपको यकीन दिलाना चाहता हूँ की पाकिस्तान आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है. हम आतंक के खिलाफ चल रही इस लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर तैनात है. हालाँकि आसिफ ने अन्तराष्ट्रीय समुदाय को चेताते हुए कहा की अगर पश्चिमी देशो की नीतिया हमें अलग थलग करनी की होगी तो आतंकवाद के खिलाफ इस लड़ाई में हमारा साथ नही मिलेगा, बल्कि इससे आतंकवाद और बढेगा.

मालूम हो की पाकिस्तान ने 30 जनवरी 2017 को हाफिज सईद को नजरबन्द कर दिया था. हाफिज को आतंकवाद निरोधक कानून एटीए की चौथी अनुसूची के अंतर्गत नजरबन्द किया गया. इस सूची में कार्यवाही करने का मतलब है की पाकिस्तान ने हाफिज सईद को आतंकी माना है. इसके अलावा हाफिज का देश से बाहर जाने पर भी प्रतिबंध लगाया हुआ है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें