padma

padma

संजय लीला भंसाली की विवादस्पद फिल्म ‘पद्मावत’ अब पाकिस्तान में भी बैन हो सकती है. मुस्लिमों की छवि खराब करने को लेकर लाहौर हाई कोर्ट में याचिका दायर कर फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग की गई.

याचिकाकर्ता की मांग पर हाई कोर्ट ने सेंसर बोर्ड को एक बार फिर से फिल्म का रिव्यू करने के लिए कहा है. जिसके बाद अदालत फिल्म पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लेगी. इससे पहले सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सेंसर पाकिस्तान ने फिल्म को उपयुक्त करार देते हुए प्रदर्शन की अनुमति दे दी थी.

ध्यान रहे मुस्लिमों की छवि खराब करने को लेकर मलेशिया पहले ही पद्मावत को बैन कर चूका है. मलयेशिया के नैशनल फिल्म सेंसरशिप बोर्ड का मानना है कि भंसाली द्वारा अलाउद्दीन खिलजी के किरदार को जिस तरह से विवादास्पद रूप में दिखाया उससे मुस्लिम समुदाय की भावनाए आहात हो सकती है.

जौहर का महिमामंडन करने और अलाउद्दीन खिलजी को राक्षस जैसा क्रूर व्यवहार करते दिखाए जाने पर मलयेशिया में फिल्म के प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी गई है. बोर्ड के चेयरमैन मोहम्मद जाम्बेरी अब्दुल अजीज के अनुसार, ‘फिल्म की स्टोरीलाइन इस्लामिक भावनाओं को प्रभावित करती है. यह मलयेशिया जैसे मुस्लिम बहुल देश में चिंता की बात है.

ध्यान रहे भारत में इस फिल्म के जरिए राजपूत समुदाय की भावनाओं को आहात करने के आरोप लगे है. जिसके बाद फिल्म में नाम सहित कई परिवर्तन कर फिल्म को रिलीज किया गया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?