संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मामलों के राज्य मंत्री डॉ अनवर गारगाश ने कहा है कि कतर के साथ चार देशों – सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र की मांगों को खारिज कर देने के बाद इस समस्या का कूटनीति के जरिए समाधान किया जाएगा.

गारगाश ने कहा, “इस संकट को हल करने के लिए कूटनीति एक प्राथमिकता है, लेकिन इसके लिए क़तर को उसको व्यवहार और स्थिति को बदलना चाहिए. उसे अतिवाद और आतंकवाद का समर्थन नही करना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने जोर देकर कहा, “हम कतर में शासन परिवर्तन, लेकिन व्यवहार में बदलाव के बारे में बात नहीं कर रहे हैं. कतर के साथ आतंकवाद से निपटने के लिए कई नियम हैं. ये नियम कूटनीतिक समाधान हैं जो कतर को आतंकवाद के समर्थन के संबंध में अपना दृष्टिकोण बदलने की आवश्यकता है “

डॉ गारगाश ने कहा, मिस्र और तीन जीसीसी देशों और कतर के बीच असहमति संप्रभुता का विषय नहीं है, बल्कि उग्रवाद और आतंकवाद के लिए इसका समर्थन है.

Loading...