नीदरलैंड्स द्वारा तुर्की के विदेश मंत्री के विमान को अपनी धरती में उतरने की अनुमति नहीं देने से दोनों देशों के रिश्तों बड़ा तनाव आ गया हैं.

दरअसल प्रधानमंत्री मार्क रुटे ने शनिवार को तुर्की के विदेश मंत्री मौलूद चावुश ओग़लू के विमान को अपने देश में उतरने की अनुमति देने से इन्कार कर दिया था. ओग़लू एक सभा में भाषण के लिए हाॅलेंड के रोट्रेडम शहर जाने वाले थे. वे तुर्की के संविधान में परिवर्तन के बारे में हाॅलेंड में रह रहे तुर्क नागरिकों के बीच भाषण देना चाहते थे. इसके अलावा नीदरलैंड्स पुलिस ने तुर्की की परिवार कल्याण मंत्री फातमा बेतुल सयान काया को शनिवार को रॉटरडम में गिरफ्तार कर उन्हें जर्मनी ले जाकर छोड़ दिया. फातमा भी रॉटरडम में रेफरेंडम के पक्ष में रैली करने गई थीं.

नीदरलैंड्स के इस व्यवहार पर एर्दोगन ने नीदरलैंड्स को चेतावनी देते हुए कहा ‘नीदरलैंड्स बनाना रिपब्लिक’ की तरह बर्ताव कर रहा है और तुर्की के मंत्रियों को रैली करने से रोकने का उन्हें खामियाजा भुगतना होगा. एर्दोगन ने कहा, नाजीवाद अभी भी पश्चिम में खूब फैला हुआ है और नीदरलैंड्स द्वारा तुर्की के मंत्रियों के साथ किया गया व्यवहार नाजीवाद, फासीवाद ही है.

वहीँ शनिवार को नीदरलैंड्स को जवाब देने के लिए अंकारा में नीदरलैंड्स के दूतावास और इस्तांबुल में वाणिज्य दूतावास को बंद किया जा चूका हैं. नीदरलैंड्स के दूतावास पर शनिवार और रविवार को सैकड़ों नागरिकों ने रैली निकाली और एक अज्ञात व्यक्ति ने दूतावास पर लगा हुआ नीदरलैंड्स का झंडा हटाया और इसके स्‍थान पर तुर्की का झंडा लगा दिया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?