ईरानी फिल्‍म निर्देशक असगर फरहदी की फिल्‍म ‘द सेल्‍समैन’ को 89वें ऑस्‍कर अवॉर्ड्स में सर्वश्रेष्‍ठ विदेशी फिल्‍म के लिए ऑस्‍कर से नवाजा गया हैं. अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के ‘मुस्लिम बैन’ के कारण वे इस समारोह में हिस्‍सा लेने नहीं आए लेकिन उन्होंने चिट्ठी के जरिए अपना सन्देश भेजा. जिसने ट्रम्प को आईना दिखाने का काम किया.

असगर फरहदी ने ट्रम्प पर वार करते हुए कहा कि ‘मैं अपने देश के लोगों के सम्मान और अमानवीय प्रतिबंध की वजह से नहीं आया.’ उन्होंने आगे लिखा, ‘मुझे अफसोस है कि मैं आज रात आपके साथ नहीं हूं. मैं अपने देश के लोगों और बाकी छह देशों के लोगों के सम्मान की रक्षा के लिए मैं गैरमौजूद हूं जिनका अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाकर अपमान किया गया. दुनिया को अमेरिका और बाकी उसके दुश्मन के तौर पर बांटना भय पैदा करने वाला है. ये युद्ध और हिंसा का धोखबाज समर्थन है.’

याद रहें कि ट्रंप प्रशासन ने सात मुस्लिम देशों के नागरिकों पर अमेरिका प्रवेश पर अस्थायी रोक लगा दी थी. फरहदी ईरान रहने वाले हैं. उन्होंने पहले ही ट्रंप मुस्लिम बैन के विरोध में ऑस्कर 2017 पुरस्कारों में शामिल होने के लिए अमेरिका जाने से इनकार कर दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

असगर फरहदी 2010 में भी वह अपनी फिल्म ‘सेपरेशन’ के लिए विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म का ऑस्कर जीत चुके हैं.

Loading...