Thursday, June 17, 2021

 

 

 

OIC ने इस्राइल की हिंसा पर अपनाया सख्त रुख, ब्लिंकेन ने की अब्बास से हालात पर चर्चा

- Advertisement -

इस्लामिक सहयोग संगठन ने इजरायल की निंदा करते हुए फिलिस्तीनियों के लिए अपने समर्थन को दोहराया है।

- Advertisement -

सऊदी शहर जेद्दा में स्थित 56 मुल्कों की इस्लामिक बॉडी ने मंगलवार को एक आपातकालीन सत्र के बाद एक बयान में कहा कि ओआईसी ने “फिलीस्तीनी लोगों के खिलाफ इजरायल के कब्जे वाले अधिकारियों द्वारा बार-बार किए गए हमलों की कड़ी निंदा की है।”

इसने “इजरायल के कब्जे वाले बलों के अपने औपनिवेशिक कार्यक्रमों के निर्माण को जारी रखने की भी निंदा की। जिसमे फिलिस्तीनी संपत्तियों को जब्त कर उन्हे उनकी जमीन से जबरन निकालने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे पूर्वी यरुशलम में इज़राइल के फिलिस्तीनियों की योजनाबद्ध निष्कासन को लेकर तनाव बढ़ गया है।

तुर्की विदेशमंत्री मेव्लुट कैवुसोग्लू  ने अपने सऊदी दौरे के दौरान इस्राइली-फिलिस्तीनी मुद्दे से जुड़ी बातचीत में कहा कि ईद उल फितर के आगामी मुस्लिम त्योहार के बाद ओआईसी के विदेश मंत्रियों की बैठक आयोजित करने के प्रयास चल रहे।

इसी बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिन्केन ने बुधवार को कहा कि उन्होंने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ बात की और हमास की और सेगाजा से दागे गए रॉकेट हमलों का अंत करने का आग्रह किया। उन्होने ट्विटर पर लिखा, “मैंने राष्ट्रपति अब्बास के साथ यरुशलम, वेस्ट बैंक और गाजा में चल रही स्थिति के बारे में बात की,” ट्विटर पर अमेरिका के शीर्ष राजनयिक ने पोस्ट किया। “मैंने जीवन के नुकसान के लिए संवेदना व्यक्त की। मैंने रॉकेट हमलों और तनाव को समाप्त करने की आवश्यकता पर जोर दिया।”

विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस के एक बयान में कहा गया है कि “सचिव ने यह विश्वास भी व्यक्त किया कि फिलिस्तीनियों और इजरायलियों को स्वतंत्रता, गरिमा, सुरक्षा और समृद्धि के समान उपाय करने हैं।” वहीं अब्बास ने “फिलिस्तीनी लोगों पर इजरायल के हमलों को रोकने के महत्व पर बल दिया है, और बसने वाले हमलों और हमारे लोगों के खिलाफ आक्रामक इजरायली उपायों को समाप्त करने के लिए कहा है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles