अमेरिका द्वारा कोरिया प्रायद्वीप पर की गई नौसैन्य लड़ाकू समूह की तैनाती के बाद उत्तरी कोरिया भड़क उठा हैं. उसने अमेरिका को चेताते हुए कहा कि वह ‘युद्ध’ के लिए तैयार है.

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, इससे साबित होगा कि अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर हमला बोलने के लिए जल्दबाजी में जो कदम उठाया है, वह एक गंभीर चरण में पहुंच गया है. उन्होंने कहा, अमेरिका जैसा भी युद्ध चाह रहा हो, उत्तर कोरिया उसका जवाब देने के लिए तैयार है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, वे अब शक्तिशाली हथियारों के बल पर अपनी रक्षा करेंगे. उन्होंने कहा, यह सबूत है कि उत्तर कोरिया का अपने को परमाणु हथियारों समेत अन्य हथियारों से लैस करने का फ़ैसला सही था. ये दिखाता है कि वहां स्थिति गंभीर चरण में पहुंच चुकी हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

याद रहें कि अमेरिकी पैसिफिक कमान ने अपने कार्ल विनसन मारक टुकड़ी को पश्चिमी पैसिफिक में तैनाती कर दी हैं. जिसमे युद्धपोत और एयरक्राफ्ट शामिल हैं. अमेरिकी पैसिफिक कमान के प्रवक्ता डेव बेनहम ने बताया कि पश्चिमी पैसिफिक में उत्तर कोरिया एक बड़ा खतरा है, क्योंकि यह देश गैर जिम्मेदार है और यह लगातार मिसाइल तथा परमाणु परीक्षण कर रहा है.

वहीँ अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया पर मिसाइल हमले का आदेश देने के अलावा अपने सलाहकारों से कहा है कि वे प्योंगयांग को काबू करने के विभिन्न विकल्पों पर विचार करें. ट्रंप ने इससे पहले यह भी चेतावनी दी थी कि यदि उत्तर कोरिया का एकमात्र बड़ा सहयोगी चीन अपने पड़ोसी के परमाणु हथियारों पर नियंत्रण में मदद करने में विफल भी रहता है, तो भी अमेरिका एकपक्षीय कार्रवाई कर सकता है.

Loading...