Friday, July 30, 2021

 

 

 

#CAA पर मुस्लिम देशों के संगठन OIC ने कहा – भारत में मुस्लिमों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए

- Advertisement -
- Advertisement -

रियाद: इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) ने रविवार को नागरिकता संशोधन क़ानून और अयोध्या फैसले पर चिंता जाहिर की है। इस्लामिक सहयोग संगठन पाकिस्तान समेत 57 देशों के मुस्लिम बहुल देशों का संगठन है।

ओआईसी के महासचिव युसूफ़ बिन अहमद बिन अब्दुल रहमान की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत के हालिया घटनाक्रम पर उनकी नज़र बनी हुई है। अपने बयान में इस इस्लामिक संगठन ने कहा है, ”भारत के हालिया घटनाक्रम को हम क़रीब से देख रहे हैं। कई चीज़ें ऐसी हुई हैं, जिनसे अल्पसंख्यक प्रभावित हुए हैं। नागरिकता के अधिकार और बाबरी मस्जिद केस को लेकर हमारी चिंताएं हैं। हम फिर से इस बात को दोहराते हैं कि भारत में मुसलमानों और उनके पवित्र स्थल की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।”

ओआईसी ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों और दायित्वों के अनुसार बिना किसी भेदभाव के अल्पसंख्यकों को सुरक्षा मिलनी चाहिए। ओआईसी ने कहा कि अगर इन सिद्धांतों और दायित्वों की उपेक्षा हुई तो पूरे इलाक़े की सुरक्षा और स्थिरता पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा।

बता दें कि नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में सबसे ज़्यादा मौत उत्तर प्रदेश में हुई है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार मरने वाले 16 में से 14 लोगों की मौत गोली लगने से हुई। मरने वालों में आठ साल का बच्चा भी शामिल है।इसके अलावा कर्नाटक में दो लोगों की मौत हुई है। इनमे से अधिकतर मरने वाले मुस्लिम समुदाय से ही है।

यूपी में लोगों की मौत गोली लगने से हुई है उनकी पहचान इस प्रकार की गई है। मोहम्मद वकील (32 साल) लखनऊ, आफ़ताब आलम (22 साल) और मोहम्मद सैफ़ (25 साल) कानपुर में, अनस (21 साल) और सुलैमान (35 साल) बिजनौर में, बिलाल (24 साल) और मोहम्मद शेहरोज़ (23 साल) संभल में, जहीर (33 साल), आसिफ़ (20 साल) और आरिफ़ (20 साल) मेरठ में, नबी जहान (24 साल) फ़िरोज़ाबाद में और फ़ैज़ ख़ान (24 साल) रामपुर में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles