oic153

तुर्की के इस्तांबुल में 57 इस्लामिक देशों के संगठन इस्लामी सम्मेलन (ओआईसी) ने पूर्वी बैतुल मुक़द्दस (जेरुसलम) को फ़िलिस्तीन की राजधानी के रूप में मान्यता प्रदान की है.

ध्यान रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा जेरुसलम को इजरायल के रूप में मान्यता देने और अमेरिकी दूतावास को तेलअवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने के आदेश देने के बाद तुर्की राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान ने ओआईसी की बुधवार को आपात बैठक बुलाई थी.

57 इस्लामिक देशों ने सयुंक्त रूप में ओआईसी की आपात बैठक के बाद सयुंक्त रूप से बयान जारी करते हुए पूर्वी जेरुसलम को फिलिस्तीन की राजधानी घोषित किया. साथ ही संयुक्त राष्ट्र संघ से भी मान्यता देने की मांग की.

बयान में कहा गया कि संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद ने इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की जो हम इस मामले को संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में उठाएंगे. साथ ही ट्रम्प को चेताते हुए कहा, अमरीकी सरकार पर इस फ़ैसले के जो परिणाम होंगे उसकी ज़िम्मेदार होगी.

इस बैठक में प्रमुख रूप से फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास, जॉर्डन किंग अब्दुल्ला द्वितीय, अज़रबेजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयव, बांग्लादेशी राष्ट्रपति अब्दुल हामिद और ईरानी राष्ट्रपति हसन रोहानी सहित 22 देशों के प्रमुख उपस्थित थे. इसके अलावा मिस्र, संयुक्त अरब अमीरात, मोरक्को और कजाखस्तान सहित 25 देशों के विदेश मंत्री शामिल  हुए थे.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano