पिछले शुक्रवार को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में एक आतंकी हमले में 50 लोगों की मौत के बाद एक सप्ताह बाद आज अल नूर मस्जिद में शुक्रवार की नमाज अदा की गई। इस दौरान न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डर्न भी नमाज में शामिल हुई।

नमाज़े जुमा के बाद न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डर्न ने लोगों को संबोधित किया। उन्होंने अपने भाषण का आरंभ पैग़म्बरे इस्लाम (स) की हदीस अर्थात कथन से किया। प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डर्न ने कहा कि हम एक हैं, मुसलमानों के शोक में बराबर के भागीदार हैं और यह ऐसा समय है कि पूरा न्यूज़ीलैंड शोक में डूबा हुआ है।

Loading...

इस दौरान जुमे की नमाज़ के लिए होने वाली आज़ान, जुमे का खुतबा और नमाज़ देश के सरकारी टीवी चैनल से सीधे प्रसारित किया गया। नमाज़ में शामिल की प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डर्न सहित सभी ग़ैर मुस्लिम महिलाएं अपने सरों को ढांके हुईं थीं।

जैसे ही जुमे की नमाज़ के लिए आज़ान हुई वहां मौजूद हर किसी की आंख नम हो गई और आज़ान के समाप्त होते ही दो मिनट के लिए सब ख़ामोश हो गए।

हेग्ले पार्क में आयोजित जुमे की नमाज़ में न केवल इस देश के मुसलमानों ने भाग लिया बल्कि इस देश के हर धर्म के लोग इस नमाज़ में शामिल हुए और आतंकी हमले में शहीद होने वालों को श्रद्धांजलि दी, साथ ही पूरी दुनिया में आतंकवाद का समर्थन करने वालों को यह संदेश दिया कि हम सब मुसलमानों के साथ हैं।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें