trump congress

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अरब देशों से कहा कि सीरिया में अमेरिकी सेना की जगह उन्हें अपने सैनिकों को तैनात करना चाहिए. ट्रम्प के इस फैसले को सऊदी अरब ने मान लिया है.

अमेरिकी समाचार पत्र “वॉल स्ट्रीट जरनल” के अनुसार राष्ट्रपति ट्रम्प, सीरिया में अमेरिकी सैनकों के स्थान पर अरब देशों के सैनिकों की तैनाती पर विचार कर रहे हैं और उन्होंने इस संबंध में कई अरब देशों के नेताओं से बात भी की है.

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने हाल ही में मिस्र के ख़ुफिया विभाग के प्रमुख अब्बास कामिल से टेलीफ़ोनी वार्ता द्वारा इस संबंध में क़ाहिरा की राय मांगी थी. व्हाइट हाउस के सूत्रों ने समाचार पत्र वॉल स्ट्रीट जरनल को बताया कि अमेरिकी सरकार ने इस परियोजना पर फ़ार्स की खाड़ी के अरब देशों के साथ बातचीत आरंभ कर दी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के इस सुझाव पर सऊदी विदेश मंत्री आदिल अल जुबेर ने कहा कि रियाज़ दाइश के ख़िलाफ़ गठबंधन के रूप में फ़ोर्सेज़ भेजने के लिए राजी है.

सऊदी विदेश मंत्री ने बल दिया कि सऊदी अरब ने इससे पहले भी यह प्रस्ताव रखा था कि आतंकवाद के ख़िलाफ़ कथित अरब गठबंधन के रूप में फ़ोर्सेज़ भेज सकता है.

Loading...