अभी तो डोकलाम विवाद सुलझा नहीं था कि चीन ने एक और विवाद को हवा दे दी है. अब चीन लद्दाख में भी हस्तक्षेप कर रहा है.

चीनी सेना लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पास पुल का निर्माण कर रही है. ध्यान रहे डोकलाम विवाद की शुरुआत भी चीनी सेना द्वारा विवादित क्षेत्र में सड़क निर्माण से ही हुई थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इंडिया टुडे के खबर के मुताबिक मामले में लद्दाख ऑटोनोमस हिल डेवलपमेंट परिषद के चीफ एक्जीक्यूटिव काउंसिलर डॉ सोनल दावा लोपो ने कहा है कि कि यह मुद्दा सरकार के सामने उठाया जाएगा.

उन्होंने आगे कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार को इस पुल निर्माण के विषय में जल्द से जल्द आपत्ति जतानी चाहिए. अब देखना होगा कि मोदी सरकार चीन के इस कदम पर क्या कदम उठाती है.

ध्यान रहे जम्मू कश्मीर से लेकर अरुणाचल तक भारत और चीन के 4 हजार किमी से भी लंबे बॉर्डर पर डोकलाम के अलावा भी कई ऐसे पॉइंट हैं, जहां दोनों देशों के बीच सीमा विवाद का मसला है.