vene

पिछले हफ्ते वेनेज़ुएला में हुई नोटबंदी को फैसले को सरकार ने वापस ले लिया हैं. वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदूरो ने नोटबंदी विफल होने के पीछे विदेशी ताकतों को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि 500 बोलिवर के नए नोटों को वक्त पर पहुंचने से साज़िश के तहत रोका गया है.

वेनेज़ुएला की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए वहां की सरकार द्वारा उठाया यह क़दम पूरी तरह सफल नहीं हो सका. करेंसी के लिए पूरे वेनेज़ुएला में हाहाकार मच गया. नकदी के संकट के कारण हज़ारों दुकानें बंद हो गईं और लोगों को क्रेडिट कार्ड या बैंक ट्रांसफर के ज़रिए लेन-देन करने के लिए बाध्य किया गया.

कई लोगों के साथ तो संकट इस कदर गंभीर हो गया कि उनके लिए खाने-पीने की चीजें खरीदना मुश्किल हो गया.  इसी बीच पुलिस से संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गयी. सरकार के मुताबिक नई करेंसी से भरे तीन हवाई जहाज वेनेजुएला नहीं पहुंच सके जिससे देश में नोटबंदी की स्थिति बेकाबू हो गई.

याद रहें कि राष्ट्रपति निकोलस मदूरो ने 12 दिसंबर को देश में तत्काल प्रभाव से अर्थव्यवस्था की सबसे बड़ी करेंसी 100 बोलिवर को प्रतिबंधित कर दिया है. इसके बदले वेनेजुएला सरकार ने 500, 2000 और 20,000 बोलिवर की नई करेंसी जारी की थी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें