उत्तरी कोरिया के शासक किम जोंग उन के बयानों से स्पष्ट है कि उनका मिसाइल परीक्षण रोकने का कोई इरादा नहीं है. उत्तरी कोरिया ने हाल ही में दो दिन पहले मिसाइल परीक्षण कर अमेरिका की धमकियों का जवाब दिया है.

किम जोंग ने मीज़ाइल परीक्षणों को पश्चिमी सभ्यता और अमरीकी ख़तरे से निपटने का साधन करार देते हुए देश के वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों से कहा कि वे बैलिस्टिक मीज़ाइलों और उनकी मारक क्षमता के विकास पर काम करें ताकि उत्तरी कोरिया को पश्चिम की हर प्रकार की संभावित मूर्खता या ख़तरे से सुरक्षित रखा जा सके.

उन्होंने कहा, हम तब तक अपने मीज़ाइल व परमाणु कार्यक्रम का विकास जारी रखेंगे जब तक अमरीका व उसके मित्र यह न समझ जाएं कि जो कुछ वे कर रहे हैं उसका कोई फ़ायदा नहीं है.

किम जोंग ने अमेरिका को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर अमेंरिका हमारे देश पर हमला करने की कोशिश में होगा तो उसे जान लेना चाहिए कि उत्तरी कोरिया हमशा, कोरिया प्रायद्वीप में लड़ाई के लिए तैयार है.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें