दुनिया के सबसे ज्यादा पीड़ित अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुस्लिम समुदाय पर अत्याचार करने पर म्यांमार को कोई खेद नहीं हैं.

म्यंमार की सेना के कमांडर मीन ऊंग हिल्यांग ने राजधानी यांगून में एक समूह को संबोधित करते हुए कहा कि रोहिग्या मुसलमानों पर अत्याचार पर हमे कोई खेद नहीं है क्योंकि वे म्यंमार के नहीं बल्कि बांग्लादेश के हैं.

उन्होंने रोहिंग्या मुस्लिमों को बंग्लादेशी करार देते हुए कहा कि वे  पलायनकर्ता हैं हमारे नागरिक नहीं हैं. वे म्यंमार के नहीं बल्कि बांग्लादेश के रहने वाले हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हिल्यांग का बयान ऐसे समय में आया हैं जबकि रोहिंग्या मुस्लिमों पर होने वाले अत्याचार को लेकर दुनिया भर में म्यांमार की आलोचना हो रही हैं. साथ ही संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी म्यंमार में रोहिग्या मुसलमानों पर किये जाने वाले अत्याचारों की जांच के लिए अपना विशेष दूत म्यंमार भेजने की घोषणा की है.

Loading...