Saturday, September 25, 2021

 

 

 

तालिबान का बड़ा बयान – ओसामा बिन लादेन के 9/11 में शामिल होने का कोई सबूत नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

तालिबान ने कहा है कि मारे गए अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन का 11 सितंबर, 2001 के आतं’कवादी हम’लों में शामिल होने का कोई सबूत नहीं है। अफगानिस्तान में अपने पिछले शासन के दौरान कई वर्षों तक ओसामा बिन लादेन को सुरक्षित पनाह देने वाले तालिबान ने 9/11 के हम’लों के बाद खूंखार आतं’कवादी को अमेरिका को सौंपने से इनकार कर दिया था।

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने बुधवार को प्रसारित एक साक्षात्कार में एनबीसी न्यूज को बताया: “जब ओसामा बिन लादेन अमेरिकियों के लिए एक मुद्दा बन गया, तो वह अफगानिस्तान में था। हालांकि 9/11 में शामिल होने का कोई सबूत नहीं था”।

उन्होंने कहा, “अब, हमने वादा किया है कि किसी के खिलाफ अफगान धरती का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।” 2001 में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के टावरों और पेंटागन पर बिन लादेन द्वारा किए गए ह’मलों के बाद, राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने मांग की थी कि तालिबान उसे सौंप दें और आतं’कवादी प्रशिक्षण शिविरों को नष्ट कर दें।

जब तालिबान ने इनकार कर दिया, तो बुश ने अमेरिकी हवाई हमलों का एक अभियान शुरू किया, जिसने अफगान उत्तरी गठबंधन की जमीनी ताकतों के साथ मिलकर इस्लामी शासन को गिरा दिया। ओसामा बिन लादेन 2001 में संयुक्त राज्य अमेरिका पर 9/11 के आतंकी ह’मलों के पीछे वैश्विक आतंकी समूह अल कायदा का प्रमुख और दिमाग था।
वह 2011 में गैरीसन शहर एबटाबाद में अमेरिकी नौसेना के जवानों द्वारा एक सैन्य अभियान में मारा गया था।

पिछले साल दोहा में हस्ताक्षरित यूएस-तालिबान समझौते के अनुसार, तालिबान ने अल कायदा से संबंध तोड़ने की कसम खाई। पिछले महीने, संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी थी कि अफगानिस्तान में कई जगहों पर दाएश और अल-कायदा जैसे आतंकवादी समूहों से खतरा बढ़ रहा है और कहा कि शांति प्रक्रिया को लेकर अनिश्चितता और और बिगड़ने के जोखिम के साथ सुरक्षा स्थिति नाजुक बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles