Saturday, July 31, 2021

 

 

 

‘डील ऑफ सेंचुरी’ नहीं हुई कामयाब तो फिलिस्तीन को कोई मान्यता नहीं: कुशनर

- Advertisement -
- Advertisement -

अमेरिकी राष्ट्रपति के सलाहकार और दामाद जेरेड कुशनर ने रविवार को कहा कि यदि फिलिस्तीनी नए मध्य पूर्व शांति योजना की शर्तों को पूरा करने में असमर्थ हैं, तो इजरायल को “उन्हें राज्य के रूप में मान्यता देने का जोखिम नहीं लेना चाहिए।”

बता दे कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दामाद कुशनेर द्वारा रखी गई योजना का मंगलवार को अनावरण किया गया जिसका इज़राइल ने गर्मजोशी से स्वागत किया। लेकिन फिलिस्तीन सहित कई मुस्लिम देशों और अरब लीग ने नकार दिया।

कुशनर को सीएनएन होस्ट फरीद जकारिया को रविवार को प्रसारित एक कार्यक्रम में चुनौती दी कि यह बताने के लिए कि उन्हें फिलिस्तीनियों की मांग क्यों दी गई है कि उन्हें एक राज्य दिया जाए – एक स्वतंत्र प्रेस, स्वतंत्र चुनाव, धार्मिक स्वतंत्रता, एक स्वतंत्र न्यायपालिका, और एक विश्वसनीय वित्तीय प्रणाली।

जकारिया ने कहा, “कोई अरब देश नहीं है जो इन मानदंडों को पूरा करेगा, निश्चित रूप से सऊदी अरब, मिस्र नहीं” या अन्य देश जिनके साथ कुशनेर ने मिलकर काम किया है। जवाब में उन्होंने कहा, “फिलिस्तीनियों के लिए, अगर वे चाहते हैं कि उनके लोग बेहतर जीवन जीएं, तो हमारे पास अब ऐसा करने के लिए एक रूपरेखा है।”

उन्होने कहा, “अगर उन्हें नहीं लगता कि वे इन मानकों को बरकरार रख सकते हैं, तो मुझे नहीं लगता कि हम उन्हें एक राज्य के रूप में मान्यता देने के लिए इजरायल को जोखिम उठाने के लिए कह  सकते हैं।” कुशनेर ने कहा: “जो हमारे पास है उससे कहीं अधिक खतरनाक केवल एक विफल स्थिति है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles