मिसाइल और विमान निर्माण में किसी इजाजत की जरूरत नहीं, जल्द जेट विमानों का निर्माण होगा शुरू: ईरान

अपने मिसाइल और सैन्य कार्यक्रम को लेकर ईरान ने साफ़ कर दिया कि वह दुनिया की किसी भी ताकत के आगे झुकने को तैयार नहीं हैं. ईरान के राष्ट्रपति डा. हसन रूहानी ने कहा कि ईरान को मिज़ाइल और विमान बनाने के लिए किसी की इजाजत लेंने की जरूरत नहीं हैं.

शनिवार को ईरान के नए सैन्य उपकरणों के अनावरण पर उन्होंने कहा कि देश की रक्षा व्यवस्था को मजबूत करना ईरान की पहली प्राथमिकता हैं. हालांकि ये हथियार बेवजह किसी पर इस्तेमाल नहीं होंगे. डा. रूहानी ने कहा कि ईरान के लिए क्षेत्रीय संतुलन की सुरक्षा और देश की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना एक आवश्यक काम है.

वहीँ रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर जनरल हुसैन दहक़ान ने कहा कि क़ाहिर 313 और कौसर 88 के निर्माण से देश में हैवी जैट विमानों के उत्पादन के लिए भूमि प्रशस्त हो गई है. शीघ्र ही नसीर और फ़कूर मिसाइलों का अनावरण भी किया जाएगा.

हुसैन दहक़ान ने सबा हेलिकॉप्टर और कर्रा टैंक को ईरान के रक्षा मंत्रालय की महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया और कहा कि इनका डिज़ाइन और निर्माण पूरी तरह से देश में किया गया है.

विज्ञापन