ag

रोमः इटली की मिलान कोर्ट ने बहुचर्चित अगस्ता वेस्टलैंड सौदे मामले में बड़ा फैसला सुनाया है। जिसके अनुसार, इस डील में भ्रष्‍टाचार का कोई सबूत नहीं मिला है।

न्यूज एजेंसी रायटर्स के अनुसार, अपने 322 पन्नों के फैसले में अदालत ने कहा, “विदेश के सरकारी अधिकारियों के उपर सुधारात्मक समझौते का जो आरोप लगाया गया, उनके खिलाफ किसी तरह का सबूत नहीं मिला, जैसा कि इस कथित कानून की आवश्यकता है।”

कोर्ट ने यह भी कहा कि, “आरोप लगाया गया कि इंडियन एयरफोर्स प्रमुख को अवैध रूप से पैसा देने के बाद हेलिकॉप्टर की उड़ान क्षमता को बदल दिया गया, जो कि संभव नहीं है, जैसा कि साक्ष्य पेश किया गया।” बता दें कि भारत के पूर्व आईएएफ प्रमुख एयर चीफ मार्शल एस पी त्यागी इस भ्रष्टाचार मामले में शामिल आरोपियों में से एक थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जानकारी के अनुसार 53 करोड़ डॉलर का ठेका पाने के लिए कंपनी पर भारतीय अधिकारियों को 100-125 करोड़ रुपए तक की रिश्वत देने का आरोप था। उल्लेखनीय है कि भारतीय वायुसेना के लिए 12 वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टरों की खरीद के लिए एंग्लो-इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ साल 2010 में किए गए 3 हजार 600 करोड़ रुपए के करार को जनवरी 2014 में भारत सरकार ने रद्द कर दिया था।

विस्तृत फैसले के बाद इस मामले के इटली में अब बंद होने की संभावना है। हालांकि, ये फैसला इटली की कंपनियों के लिहाज से है। इस मामले में भारतीय एजेंसियां भी जांच कर रही हैं, ऐसे में इस केस के फैसले का उस जांच पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

Loading...