ईरान में कोरोनावायरस के संकर्मण को देखते हुए उसके पड़ोसी मुल्कों ने ईरान के साथ अपनी सीमाओं को बंद कर दिया है। सोमवार सुबह, कतर एयरवेज ने भी घोषणा की कि यह ईरान और दक्षिण कोरिया से आने वाले यात्रियों को 14 दिनों के लिए सेवाए नहीं प्रदान करेगा।

एक ईरानी संसदीय प्रतिनिधि ने सोमवार को कहा कि देश में मरने वालों की संख्या 50 तक पहुँच गई है। जो चीन के बाद अब तक की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। इसके अलावा दक्षिण कोरिया में सात लोगों की मौत की खबर है। हालांकि ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने सांसद के दावे को खारिज कर दिया है।

ईरान के सात पड़ोसी देशों, इराक, तुर्की, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और आर्मेनिया में से पांच ने इस्लामिक गणराज्य के लिए अपनी सीमाएं बंद कर दी हैं। सऊदी अरब, कुवैत, जॉर्डन और जॉर्जिया सहित अन्य क्षेत्रीय देशों ने यात्रा और आव्रजन प्रतिबंध भी लगाए हैं।

ईरान के अन्य दो पड़ोसी, तुर्कमेनिस्तान और अजरबैजान, कोरोनोवायरस के प्रसार का मुकाबला करने के लिए कथित तौर पर सीमा पर जाँच कर रहे हैं। कोरोना वाइरस का ज्यादा प्रकोप कुओम शहर में है। शुक्रवार को हुए संसदीय चुनावों ने वायरस के प्रसार को सुविधाजनक बनाने में मदद की होगी।

समाचार एजेंसी मेहर ने ईरान की संसद के पीठासीन अधिकारी असदुल्ला अब्बासी के हवाले से कहा, “स्वास्थ्य मंत्री की एक रिपोर्ट के आधार पर देश में अब तक चौंसठ लोग कोरोनोवायरस से संक्रमित हो चुके हैं।” अब्बासी ने कहा, “दुर्भाग्य से, कोरोनावायरस से अब तक 12 लोग मा’रे गए हैं।”

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन