भारत में जल्द ही तेल की कीमते आसमान छू सकती है। दरअसल, कच्चे तेल के सबसे बड़े निर्यातक सऊदी अरब ने रविवार को कहा कि वह अगले महीने से तेल का उत्पादन घटाएगा।

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फालिह ने कहा कि उनका देश दिसंबर से आपूर्ति में पांच लाख बैरल रोजाना तक की कटौती करेगा। ओपेक और गैर-ओपेक तेल उत्पादक देशों की बैठक से पहले हालांकि फालिह ने कहा कि अब तक व्यापक तौर पर उत्पादन कटौती पर कोई आम सहमति नहीं बन पाई है।

अल-फालेह ने अबु धाबी में ऊर्जा सम्मेलन में कहा कि हमने रविवार को जो तकनीकी विश्लेषण किया उससे पता चला कि हमें बाजार को पुन: संतुलित करने के लिए उत्पादन में प्रति दिन 10 लाख बैरल की कटौती करनी होगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

petrol

मंत्री ने कहा कि अबूधाबी में मंत्रिस्तरीय संयुक्त समिति की बैठक में फैसला नहीं लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिसंबर के शुरू में विएना में होने वाली मंत्रीस्तरीय बैठक के लिए सिफारिश तैयार की जाएगी।

तेल की घटती कीमतों को फिर से बढ़ाने के लिए दुनिया के प्रमुख तेल उत्पादकों की एक अहम बैठक से पहले सऊदी अरब का यह फैसला महत्वपूर्ण है। जानकारों के मुताबिक, सऊदी अरब, रूस और अमेरिका से कच्चे तेल की सप्लाई बढ़ने के बावजूद दाम लगातार कम हो रहे हैं। इसलिए दामों में स्थिरता लाने के लिए उत्पादन में कटौती करने का फैसला किया गया है।

Loading...