Monday, June 14, 2021

 

 

 

मलेशिया के पूर्व पीएम महातिर मोहम्मद बोले – मुस्लिम देश मिलकर करे इस्राइल के खिलाफ संयुक्त कार्रवाई

- Advertisement -
- Advertisement -

फिलिस्तीन के गज़्ज़ा और मस्जिद अल अक्सा में इस्राइल बलों की और से की जा रही कार्रवाई के विरोध में मलेशिया के पूर्व प्रधान मंत्री डॉ महाथिर मोहम्मद ने कहा कि मुस्लिम देशों और फिलिस्तीनियों के अधिकारों और उनके संघर्ष का समर्थन करने वालों द्वारा संयुक्त कार्रवाई के माध्यम से अरब-इजरायल संघर्ष का समाधान खोजा जा सकता है।

यह उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो उस समाधान को प्राप्त करने के लिए एक उचित रणनीति के लिए फिलिस्तीनियों का समर्थन करते हैं, उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक लाइव सार्वजनिक संबोधन में ये बात कही। उन्होने कहा, “लड़ने के लिए या बदला लेने के लिए लड़ने से कुछ हासिल नहीं होने वाला है।”

महाथिर ने अरब जगत और फिलीस्तीनियों से इसराइल के खिलाफ खड़े होने के लिए एक उचित रणनीति के बारे में सोचने और बैठने की उम्मीद भी व्यक्त की। उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद है कि मुस्लिम दुनिया वर्तमान स्थिति के प्रति जागेगी। मैं चाहता हूं कि हम सभी फिलिस्तीनियों के खिलाफ और मानवता के खिलाफ इजरायल की हिंसक गतिविधियों के खिलाफ कम पीड़ित होंगे।”

महाथिर ने कहा कि संघर्ष की सच्चाई को समझाने के लिए राजनयिक मान्यता प्राप्त करना और कूटनीति के दायरे में जाना महत्वपूर्ण है, कि पीड़ित फिलिस्तीनी हैं और अन्यथा नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि दुनिया को लगता है कि यह फिलिस्तीनी हैं जो इजरायल को भड़का रहे हैं लेकिन जैसा कि आज जब फिलिस्तीनी अपनी मस्जिद में इबादत कर रहे थे, इजरायलियों ने आक्रमण करने और उन पर हमला करने का फैसला किया।

96 साल के महातिर मोहम्मद ने कहा कि अल-अक्शा मस्जिद में फ़लस्तीनी नमाज़ अदा कर रहे थे और ऐसे में इसराइली सुरक्षाबलों के हमले का कोई मतलब नहीं था। वे किसी के लिए खतरा नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles