rohingya-musl

मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक ने मंगलवार को म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे खूनी दमन के विरोध में आयोजित रैली में हिस्सा लिया.

पिछले शुक्रवार ही मलेशिया के विदेश मंत्रालय ने इस मामले को लेकर म्यांमार के राजदूत को तलब किया हैं. ये फैसला 500 मलेशियाई नागरिको द्वारा कुआलालंपुर मस्जिद से म्यांमार के दूतावास तक मूसलधार बारिश के बीच निकाली गई रैली के बाद लिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुस्लिम बहुल मलेशिया के मंत्रिमंडल ने पिछले सप्ताह ही एक बयान जारी कर Association of Southeast Asian Nations (ASEAN) के सदस्य देशों के सामने इस नरसंहार की आलोचना कर सदस्य देशों से हस्तक्षेप करने की मांग की थी.

वहीँ उप प्रधानमंत्री जाहिद हमीदी ने मलय मेल ऑनलाइन से बातचीत में रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार पर गहरी चिंता प्रकट की.

गौरतलब रहें कि संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने हाल ही में कहा है कि म्यांमार, रोहिंग्या मुसलमानों के “जातीय सफाई” में लगा हुआ हैं.

Loading...